इन रत्नों को एक साथ पहनना न भूलें, कम होने की बजाय परेशानियां बढ़ेंगी।

0
12


ज्योतिष शास्त्र के अनुसार रत्न धारण करने से ग्रहों का अशुभ प्रभाव कम होता है। हर ग्रह के अलग-अलग रत्न होते हैं। रत्न व्यक्ति की कुंडली को देखते हुए पहने जाते हैं। कुछ रत्न ऐसे होते हैं जिन्हें एक साथ नहीं धारण करना चाहिए। इन रत्नों को एक साथ पहनने से परेशानी कम होने की बजाय बढ़ सकती है। यदि कुछ रत्न एक साथ धारण कर लिए जाएं तो व्यक्ति को जीवन में अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आइए जानते हैं किन रत्नों को एक साथ नहीं धारण करना चाहिए।

मोती के साथ हीरा, पन्ना, गोमेद, लहसुन और नीलम धारण न करें

  • यदि किसी व्यक्ति ने मोती धारण किया हुआ है तो उस व्यक्ति को हीरा, पन्ना, गोमेद, लहसुन और नीलम नहीं धारण करना चाहिए। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार चंद्रमा के अशुभ प्रभाव को कम करने के लिए मोती धारण किया जाता है। मोती के साथ हीरा, पन्ना, गोमेद, लहसुन और नीलम धारण करने से मानसिक तनाव हो सकता है।

चाणक्य नीति : ऐसी स्त्री से विवाह करने से मिलती है किस्मत, पढ़ें आज की चाणक्य नीति

पन्ना के साथ पुखराज, मूंगा और मोती न पहनें

  • यदि कोई व्यक्ति पन्ना धारण कर रहा है तो उस व्यक्ति को पुखराज, मूंगा और मोती नहीं धारण करना चाहिए। ज्योतिष के अनुसार पन्ना बुध ग्रह का रत्न है। इसे धारण करने से बुध के अशुभ प्रभाव में कमी आती है। पन्ना के साथ पुखराज, मूंगा और मोती धारण करने से धन की हानि हो सकती है।

लहसुन के साथ माणिक, मूंगा, पुखराज और मोती न पहनें

  • यदि कोई व्यक्ति लहसुन पहने हुए है तो उसे माणिक, मूंगा, पुखराज और मोती नहीं पहनना चाहिए। माणिक, मूंगा, पुखराज और मोती को लहसुन के साथ धारण करने से जीवन में कई समस्याएं हो सकती हैं।

ये हैं 2021 की सबसे भाग्यशाली राशियां, शनि देव बरस रहे हैं खास आशीर्वाद

नीलम के साथ माणिक, मूंगा, मोती और पुखराज धारण न करें

  • नीलम शनि ग्रह का रत्न है। यदि कोई व्यक्ति नीलम धारण करता है तो उसे माणिक, मूंगा, मोती और पुखराज नहीं धारण करना चाहिए। ऐसा करने से विपरीत प्रभाव पड़ सकता है।

(हम यह दावा नहीं करते हैं कि इस लेख में दी गई जानकारी पूरी तरह से सत्य और सटीक है। इन्हें अपनाने से पहले, कृपया संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ से सलाह लें।)

.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here